इस बार रक्षाबंधन पर सिर्फ पौने 3 घंटे मिलेंगे राखी बांधने के लिए,

0
559
views
#rakshabandhan, #sanatanshala,

रक्षाबंधन पर सिर्फ पौने 3 घंटे मिलेंगे

(raksha bandhan)

रक्षाबंधन के पर्व पर इस बार भद्रा तथा चन्द्र ग्रहण का साया रहेगा। श्रावण शुक्ल पूर्णिमा पर 7 अगस्त को रक्षाबंधन का पर्व मनाया जाएगा। लेकिन इस दिन ग्रहण होने की वजह से बहनों को राखी बांधने के लिए केवल 2 घंटे 47 मिनट का ही समय मिलेगा।

खंडग्रास चन्द्रग्रहण पूरे देश में लगभग 2 घंटे तक दिखाई देगा। पंडित बंशीधरण ज्योतिष पंचांग के निर्माता पंडित दामोदर प्रसाद शर्मा ने बताया कि रक्षाबंधन (raksha bandhan) पर सोमवार को ग्रहण रात्रि 10.33 बजे से शुरु होगा जो रात्रि में 12.48 बजे समाप्त होगा। ग्रहण का सूतक काल दोपहर 1.55 मिनट से शुरु हो जाएगा। शास्त्रानुसार सूतक तथा भद्राकाल में राखी नहीं बांधी जाती। अतः सूतक लगने के बाद बहनें, भाईयों को राखी नहीं बांध सकेंगी। इससे पहले सुबह 11.05 बजे तक भद्राकाल रहेगा। अतः बहनें भद्राकाल खत्म होने व सूतक शुरु होने के बीच 2 घंटे 47 मिनट में ही राखी बांध सकेंगी।

रक्षाबंधन पर 9 वर्ष बाद होगा ग्रहण – (raksha bandhan)

इस बार रक्षाबंधन पर चंद्रग्रहण का योग 9 वर्षों बाद बन रहा है। इससे पहले आखिरी बार 16 अगस्त 2008 में भी रक्षाबंधन पर खंडग्रास चंद्रग्रहण हुआ था।

प्राकृतिक प्रकोप की आशंका

ग्रहण के समय मकर राशि स्थित चंद्रमा पर सूर्य व नीच राशि में स्थित मंगल और शनि की कुदृष्टि रहेगी जो कि अराजकता, लूटपाट, अपहरण व फसलों के लिए नुकसानदेह होगी। साथ ही अनाज, चावल, तेल आदि में तेजी रहेगी। यवन राष्ट्रों में प्राकृतिक प्रकोप, असामाजिक तत्वों का बोलबाला रहेगा। इसके साथ ही पर्वतीय भाग जैसे कि कश्मीर, भूटान, अरूणाचल प्रदेश में भी प्राकृतिक आपदाएं आ सकती हैं। राजनीतिज्ञों में आपसी मनमुटाव देखने को मिलेगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here