विजय दशमी २०१६ – Vijay Dashami 2016

0
2278
views

विजय दशमी का पर्व आश्विन माह की शुक्ल पक्ष की दशमी को मनाया जाता है. दशहरा या विजयादशमी असत्य पर सत्य की विजय का प्रतीक है. अधर्म एवं बुराई को समाप्त करके धर्म की स्थापना और शांति का प्रतीक है.

इस दिन राम ने रावण का वध किया था. रामायण के अनुसार राम तथा सीता जी के वनवास के दौरान रावण, राम की पत्नी सीता का अपहरण कर लंका ले जाता है. तब भगवान श्री राम अपनी पत्नी सीता जी को रावण के बंधन से मुक्त कराने हेतु राम ने भाई लक्ष्मण, भक्त हनुमान एवं वानरों की सेना के साथ मिलकर रावण के साथ एक बड़ा युद्ध करते हैं. युद्ध के दौरान श्री राम जी नौ दिनों तक युद्ध की देवी मां दुर्गा जी की पूजा करते हैं तथा दशमी के दिन रावण का वध करते हैं और सीता जी को बंधन से मुक्त कराते हैं.

इसलिए विजयदशमी एक बहुत ही महत्त्वपूर्ण दिन है. इस दिन रावण, उसके भाई कुम्भकरण और पुत्र मेघनाद के पुतले जगह-जगह में जलाए जाते हैं. सुबह के समय पूजा करने के बाद संध्या समय में जब “विजय” नामक तारा उदय होता है तब रावण का दाह संस्कार पुतले के रुप में किया जाता है. रावण के पुतले जलाने का कार्य सूर्यास्त से पहले समाप्त किया जाता है, क्योंकि भारतीय संस्कृति में हिन्दु धर्म के अनुसार सूर्यास्त के बाद दाह संस्कार नहीं किया जाता है.

क्षत्रियों के यहाँ शस्त्रों की पूजा होती है, इस दिन नीलकंठ का दर्शन बहुत शुभ माना जाता है. दशहरा या विजया दशमी नवरात्रि के पश्चात दसवें दिन मनाया जाता है.

दशहरा एक अबूझ मुहूर्त है. दशहरे के दिन नए व्यापार या कार्य की शुरुआत करना अति शुभ होता है. यह अत्यंत शुभ तिथियों में से एक है, इस दिन वाहन, इलेक्ट्रॉनिक्स आइटम, स्वर्ण, आभूषण नए वस्त्र इत्यादि खरीदना शुभ होता है. दशहरे के दिन नीलकंठ भगवान के दर्शन करना अति शुभ माना जाता है. दशहरा के दिन लोग नया कार्य प्रारम्भ करते हैं, शस्त्र-पूजा की जाती है. प्राचीन काल में राजा लोग इस दिन विजय की प्रार्थना कर रण-यात्रा के लिए प्रस्थान करते थे. इस दिन जगह-जगह मेले लगते हैं. दशहरा का पर्व समस्त पापों काम, क्रोध, लोभ, मोह मद, अहंकार, हिंसा आदि के त्याग की प्रेरणा प्रदान करता है.

दशहरा पूजन मुहूर्त २०१६

11 अक्तूबर
विजय मुहूर्त- 14:02 से 14:48
अपराह्न पूजा समय- 13:16 से 15:33
दशमी तिथि आरंभ- 22:53 (10 अक्तूबर)
दशमी तिथि समाप्त- 22:28 (11 अक्तूबर)

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here