ग्रहों की चाल :- कभी वक्री नहीं होते सूर्य व चंद्र :- नौ ग्रहों में सूर्य व चंद्र ही ऐसे दो ग्रह हैं जो कभी वक्री (विपरीत गति) नहीं होते, जबकि राहु व केतु सदैव वक्री गति से ही चलते हैं। मंगल, बुध, गुरु, शुक्र व शनि ग्रह कई बार सीधी गति से चलते हुए वक्री होकर पुनः सीधी गति पर लौटते हैं। आचार्य केदार नाथ

0
73
views

Previous articleवेद पाठ
Next articleकल है चंद्रग्रहण, जानिए राज्य अनुसार चंद्र ग्रहण के सूतक का समय कब होगा शुरू
नमस्कार ! मैं आचार्य केदार आप लोगों को धर्म शास्त्र, ज्योतिष, कर्म-कांड इत्यादि के बारे में जानकारी देना चाहता हूँ । वेद क्या हैं? ये कहाँ से आये? कौन लाया? यहाँ सारी बात आप लोगों के सामने रखना चाहता हूँ| इन शास्त्रों के बारे में मुझे ८ साल का अनुभव है। मुझे पूजन पाठ तथा धर्मशास्त्र आदि के बारे में विदेशों जैसे अमेरिका, जर्मनी, नेपाल, बांग्लादेश,भूटान में भी अर्जित किया हुआ अनुभव है।
SHARE

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here