श्री सरस्वती पूजन की विधि – सरस्वती पूजन – सनातनशाला

0
1212
views
#Saraswati Puja sanatanshala
श्री सरस्वती पूजन की विधि - सरस्वती पूजन - सनातनशाला

श्री सरस्वती पूजन की विधि

सामग्री (shri saraswati poojan ki vidhi)

मां सरस्वती की मूर्ति, चावल, कुमकुम, धूप, दीपक, बत्ती, दूध, दही, घी, शहद, शकर, साफ जल, सरस्वती मां के लिए वस्त्र, सफेद फूल, नैवेद्य (मिठाई और फल), अष्ट गंध।


सकंल्प  (saraswati poojan ki vidhi)

पूजन शुरू करने से पहले सकंल्प लें।संकल्प करने से पहले हाथों मेे जल, फूल व चावल लें।सकंल्प में जिस दिन पूजन कर रहे हैं उस वर्ष, उस वार, तिथिउस जगह और अपने नाम को लेकर अपनी इच्छा बोलें।अब हाथों में लिए गए जल को जमीन पर छोड़ दें।


संकल्प का उदाहरण (saraswati poojan ki vidhi)

जैसे 09/06/2017 को श्रीसरस्वती पूजन किया जाना है।तो इस प्रकार संकल्प लें।
मैं (अपना नाम बोलें) विक्रम संवत् 2072 को, वैशाख मास के तृतीया तिथि को मंगलवार के दिन, कृति का नक्षत्र में, भारत देश के मध्य प्रदेश राज्य के उज्जैन शहर में महाकालेश्वर तीर्थ में इस मनोकामना से (मनोकामना बोलें) श्रीसरस्वती का पूजन कर रही / रहा हूं।

श्रीसरस्वती पूजन की सरल विधि (saraswati poojan ki vidhi)

सबसे पहले मूर्ति में माता सरस्वती आवाहन करें । आवाहन यानी कि बुलाना।माता सरस्वती को अपने घर बुलाएं। माता सरस्वती को अपने अपने घर में सम्मान सहित आसन दें।अब माता सरस्वती को स्नान कराएं।स्नान पहले जल से फिर पंचामृत (दूध, दही, घी, शहद और शकर) से और फिर से जल से स्नान कराएं।

अब माता सरस्वती को वस्त्र अर्पित करें।।वस्त्रों के बाद आभूषण पहनाएं।पुष्प माला पहनाएं।फिर तिलक करें।तिलक के लिए अष्टगंध का प्रयोग करें।अब धूप व दीप अर्पित करें।माता सरस्वती को सफेद फूल अर्पित करें। 11 या 21 चावल अर्पित करें।श्रद्धानुसार घी या तेल का दीपक लगाए।आरती करें।आरती के पश्चात्परिक्रमा करें।अब नैवेद्य (भोग) अर्पित करें।सरस्वती पूजन के दौरन “ऊँऐंसरस्वतयैनमः”इस मंत्र का जप करते रहें।

#saraswati poojan ki vidhi, #sanatanshala

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here