बाल गोपाल के पूजन की विधि (poojan vidhi) – सनातनशाला

0
872
views

बाल गोपाल के पूजन की विधि

सामग्री (poojan vidhi)

देव मूर्ति के स्नान के लिए तांबे का पात्र, तांबे का लोटा, जल का कलश, दूध, देव मूर्ति को अर्पित किए जाने वाले वस्त्र व आभूषण।चावल, कुमकुम, दीपक, तेल, रुई, धूपबत्ती, फूल, अष्ट गंध।माखन, मिश्री।तुलसी दल, तिल, प्रसाद के लिए फल, दूध, मिठाई, नारियल, पंचामृत, सूखेमेवे, शक्कर, पान, दक्षिणा में से जो भी हो।

सकंल्प (poojan vidhi)

किसी विशेष मनोकामना के पूरी होने की इच्छा से किए जाने वाले पूजन में संकल्प की जरूरत होती है।निष्काम भक्ति बिना संकल्प के भी की जा सकती है।

पूजन शुरू करने से पहले सकंल्प लें।संकल्प करने से पहले हाथों में जल, फूल व चावल लें।सकंल्प में जिस दिन पूजन कर रहे हैं उस वर्ष, उस वार, तिथिउस जगह और अपने नाम को लेकर अपनी इच्छा बोलें।अब हाथों में लिए गए जल को जमीन पर छोड़ दें।

संकल्प का उदाहरण (poojan vidhi)

जैसे 10/06/2017 को बालगोपाल का पूजन किया जाना है।तो इस प्रकार संकल्प लें ।मैं ( अपना नाम बोलें) विक्रमसंवत् 2072 को, भादौ मास के अष्टमी तिथि को, शनिवार के दिन, रोहणी नक्षत्र में, भारत देश के मध्य प्रदेश राज्य के उज्जैन शहर में महाकालेश्वर तीर्थ में इस मनोकामना से (मनोकामना बोलें ) श्री बालगोपाल का पूजन कर रही/ रहा हूं।

बालगोपाल पूजन की सरल विधि (poojan vidhi)

सर्वप्रथम गणेश पूजन करें।गणेश जी को स्नान कराएं।वस्त्र अर्पित करें।गंध, पुष्प ,धूप ,दीप, अक्षत से पूजन करें।

अब बालगोपाल का पूजन करें।बालगोपाल को स्नान कराएं।स्नान पहले जल से फिर पंचामृत से और वापिस जल से स्नान कराएं।वस्त्र अर्पित करें।वस्त्रों के बाद आभूषण पहनाएं।अब पुष्प माला पहनाएं।अब अष्टगंध से तिलक करें। ‘‘ऊँबालगोपालायनमः’’ मंत्र का उच्चारण करते हुए बालकृष्ण को अष्टगंध का तिलक लगाएं।अब धूप व दीप अर्पित करें।फूल अर्पित करें।श्रद्धा नुसार घी या तेल का दीपक लगाएं।आरती करें।आरती के पश्चात्परिक्रमा करें।अबनेवैद्य अर्पित करें।माखन, मिश्री अर्पित करें।तुलसी दल अर्पित करें।पूजन के समय‘‘ऊँबालगोपालायनमः’’मंत्र का जप करते रहें।

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here